Type Here to Get Search Results !

ad

ADD


 

𝐘𝐚𝐦𝐮𝐧𝐚𝐧𝐚𝐠𝐚𝐫 𝐍𝐞𝐰𝐬 : बडी खबर : हथिनीकुंड बैराज पर यमुना का जलस्तर बढ़ा, बैराज के 10 गेट खोले

10 gates of Hathinikund Barrage Opened In Yamuna Nagar Haryana,

हथिनीकुंड बैराज 

यमुनानगर, डिजिटल डेक्स।। दून घाटी में हो रही पिछले 𝟒𝟖 घंटे से बारिश ने यमुना का जलस्तर बढ़ा दिया। हथिनीकुंड बैराज पर पानी की रफ्तार 𝟑𝟗 हजार 𝟐𝟎𝟓 क्यूसिक दर्ज की गई है। आज हथिनीकुंड बैराज के 𝟏𝟎 गेट खोल दिए गए। 

यह पानी करीब बहत्तर घंटो के भीतर दिल्ली की सरहदो पर दस्तक दे सकता है। यह पानी दिल्ली के निचले इलाको के लिए मुसीबते खड़ी कर सकता है। यमुनानगर जिला प्रशासन ने एहतियात बरतते हुए अलर्ट जारी कर दिया है।

हथिनीकुंड बैराज

सुबह 𝟒 बजे 𝟑𝟐 हज़ार 𝟑𝟑𝟏 क्यूसिक

सुबह 𝟓 बजे 𝟏𝟕 हज़ार 𝟏𝟐𝟓 क्यूसिक

सुबह 𝟔 बजे 𝟏𝟒 हज़ार 𝟏𝟖𝟑 क्यूसिक

सुबह 𝟕 बजे 𝟏𝟐 हज़ार 𝟒𝟗𝟔 क्यूसिक

सुबह 𝟖 बजे 𝟏𝟒 हज़ार 𝟕𝟎𝟓 क्यूसिक

सुबह 𝟗 बजे 𝟏𝟓 हज़ार 𝟐𝟗𝟐 क्यूसिक

सुबह 𝟏𝟎 बजे 𝟏𝟎 हज़ार 𝟕𝟔𝟏 क्यूसिक

सुबह 𝟏𝟏 बजे 𝟑𝟗 हज़ार 𝟐𝟎𝟓 क्यूसिक

सुबह 𝟏𝟐 बजे 𝟑𝟐 हज़ार 𝟑𝟑𝟏 क्यूसिक

दोपहर 𝟏 बजे 𝟑𝟑 हज़ार 𝟕𝟔𝟗 क्यूसिक

दोपहर 𝟐 बजे 𝟑𝟑 हज़ार 𝟒𝟗𝟗 क्यूसिक

दोपहर 𝟑 बजे 𝟑𝟎 हज़ार 𝟖𝟖𝟖 क्यूसिक

दोपहर 𝟒 बजे 𝟐𝟑 हज़ार 𝟔𝟏𝟑 क्यूसिक

दोपहर 𝟓 बजे 𝟏𝟖 हज़ार 𝟓𝟒𝟏 क्यूसिक

शाम 𝟔:𝟎𝟎 बजे से एक बार फिर हथिनीकुंड बैराज पर पानी यमुना का जलस्तर बढ़ाना शुरू हो गया… हथनीकुंड बैराज पर पानी की रफ्तार 𝟑𝟐 हज़ार 𝟕𝟗𝟖 क्यूसिक नापी गई। 

सिंचाई विभाग के एसडीओ ने बताया कि पानी को बड़ी यमुना में डाइवर्ट किया गया। वेस्टर्न यमुना कैनाल में 𝟏𝟕,𝟓𝟏𝟎 और पूर्वी यमुना कैनाल में 𝟑𝟓𝟏𝟎 क्यूसेक पानी डायवर्ट किया गया है। सीजन में पहली बार पानी की बड़ी मात्रा को यमुना नदी से डायवर्ट किया गया है।

एसडीओ नवीन रंगा

सिंचाई विभाग के एसडीओ नवीन रंगा ने बताया कि जब बैराज पर एक लाख क्यूसेक पानी दर्ज किया जाता है तो पूर्वी और वेस्टर्न यमुना कैनाल को बंद कर पूरा पानी बड़ी यमुना में डाइवर्ट कर दिया जाता है और मिनी फ्लड घोषित किया जाता है। उन्होंने कहा, अभी ऐसी स्थिति नहीं आई है।

एसडीओ ने बताया कि ढाई लाख क्यूसेक पानी आने पर फ्लड घोषित किया जाता है। आज जो पानी छोड़ा गया है, उसके बारे में सोशल मीडिया ग्रुप के जरिए निचले इलाकों में सूचना दी गई है।

हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों से भारी बारिश हो रही है जिस कारण यमुनानगर में हथिनीकुंड बैराज पर धरातल पर उतरने वाली यमुना नदी में जलस्तर बढ़ गया है। 

गौरतलब है कि हर साल मॉनसूनी सीजन में हथिनीकुंड बैराज चर्चा में रहता है। यहां हर साल आरोप लगता है कि हथिनीकुंड बैराज से पानी छोड़ दिया गया और दिल्ली में बाढ़ आ गई।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.


 

Below Post Ad


ADD


 

ads