Type Here to Get Search Results !

ad

ADD


 

𝐒𝐢𝐫𝐬𝐚 𝐍𝐞𝐰𝐬 : कुमारी शैलजा ने किरण और श्रुति को दी बधाई.. बोली एक नया रास्ता चुना है उनको शुभकामनाएं

चौधरी बीरेंद्र सिंह, विजेंद्र सिंह, रणदीप सिंह सुरजेवाला और किरण चौधरी की मेहनत की वजह से ही वो सिरसा लोकसभा सीट से चुनाव जीती !


सिरसा, डिजिटल डेक्स।। सिरसा लोकसभा की सांसद कुमारी शैलजा ने कहा कि किरण चैधरी, श्रुति चैधरी सहित कई नेताओं के साथ नाइंसाफी हुई। 

यही कारण है कि किरण व श्रुति को कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में जाने का फैसला करना पड़ा। उन्होंने कहा कि अगर वे कांग्रेस में रहते तो हम मिलकर काम करते। 

लेकिन उन्होंने पार्टी छोड़ने का कदम उठा लिया। सांसद कुमारी शैलजा के लिए भविष्य के लिए किरण व श्रुति को शुभकामनाएं दीं। 


सिरसा सांसद ने कहा कि चै. बीरेन्द्र सिंह के साथ भी नाइंसाफी हुई थी। इसी तरह रणजीत सिंह चैटाला सहित कई अन्य नेता भी हैं जिन्होंने पार्टी छोड़ी। हालांकि बीरेन्द्र सिंह वापिस कांग्रेस में आ गए हैं। 

उन्हांने कहा कि किरण चैधरी, श्रुति चैधरी, रणजीत सिंह सुरजेवाला व चै. बीरेन्द्र सिंह ने लोकसभा चुनाव में खूब मेहनत की जिसका नतीजा है कि वे सिरसा से जीतकर सांसद बनीं। 

उन्होंने लोकसभा चुनाव में सपोर्ट करने पर सभी नेताओं का आभार जताया। सांसद कुमारी शैलजा सिरसा के एक निजी रिजोर्ट में सांसद बनने के लिए कार्यकर्ताओं का धन्यवाद करने के लिए पहुंची थी। इसके बाद पत्रकारवार्ता का आयोजन किया गया।

पत्रकारवार्ता में सांसद कुमारी शैलजा से सिरसा लोकसभा क्षेत्र से जीत दिलाने वाले पार्टी के सभी नेताओं, पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं का आभार जताया। 

एक सवाल के जवाब में कु. शैलजा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी बड़ा परिवार है इसलिए इस तरह के हालात अकसर बन जाते हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी में नए नेताओं को लगातार शामिल किया जा रहा है और पुरानों की अनदेखी हो रही है। 

पार्टी को सबको साथ जोड़कर रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस प्रभारी दीपक बावरिया का बर्ताव भी किरण चैधरी व श्रुति चैधरी के प्रति अच्छा नहीं रहा। 

पार्टी में चल रही सभी बातों को हाईकमान के समक्ष रखा जाएगा। यह सब बातें पार्टी फोरम में होंगी। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष उदयभान को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में शैलजा का कहा कि मुझे सीखाने वाला कांग्रेस पार्टी में कोई भी नहीं है। 

अगर कोई इक्का-दुक्का है तो उनसे बातचीत होती रहती है। शैलजा के कहा कि बरसों से वे पार्टी के साथ जुड़ी हैं और खून-पसीने को कांग्रेस को सींचने का काम किया है। 

किसी भी सूरत में पार्टी छोड़ना की सोचना तो दूर, कभी ऐसी बात भी नहीं सोची। उन्होंने कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष उदयभान को नसीहत देते हुए कहा कि उन्हें जो बोलना है बोलते रहें इससे शैलजा को कोई फर्क नहीं पड़ता और जो वो चाहेंगी वही बोलेंगी और पार्टी के दायरे में रहेंगी। 

इसलिए वे पार्टी में गर्दन उठाकर चलती हैं और बोलती हैं। चै. बीरेन्द्र सिंह को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में सांसद शैलजा ने कहा कि वे पार्टी के कद्दावर नेता हैं। 

साथ मिलकर काम करेंगे और पार्टी को मजबूत बनाएंगे। उन्होंने गुड़गांव से अजय यादव को टिकट नहीं देेने को फैसले को भी दुखद बताया और कहा कि अगर टिकट अजय यादव को मिलता तो वे जरूर जीत हासिल करते। 

बाहरी व्यक्ति को टिकट देकर रिजल्ट खराब किया गया है और पांच सालों तक इलाके में मेहनत करने वाले को दरकिनार किया गया। 

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र हुडा पर तंज कसते हुए सांसद कुमारी शैलजा ने कहा कि प्रदेशाध्यक्ष होते हुए उन्हें भी कामत नहीं करने दिया गया है। इसलिए उन्होंने कहा कि इस्तीफा दिया था।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.


 

Below Post Ad


ADD


 

ads